आज आधार की वैधता पर सुप्रीम कोर्ट अपना सुनाएगा फैसला

0
33

आधार की वैधता पर आज सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुनाएगा। इसके साथ कोर्ट चार और अहम मुद्दों पर अपना फैसला सुना सकता है। सुप्रीम कोर्ट आज आधार के अलावा प्रमोशन में आरक्षण, दोषी नेताओं के कार्यकाल पर किसका आदेश वैध होगा और कोर्ट की कार्यवाही की रिकॉर्डिंग जैसे अहम मामलों में कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है। इसके साथ बुधवार यानि आज अयोध्या मामले में भी कोर्ट अपना फैसला दे सकता है।

जानकारी के लिए बता दें कि ये सभीव केस जस्टिस दीपक मिश्रा को सौंपे गए हैं और उनके रिटायरमेंट में सिर्फ चार दिन और रह गए हैं। ऐसे में ये कयास लगाए जा रहे हैं कि इन सभी अहम मुद्दों पर जस्टिस दीपक मिश्रा आज ही फैसाल सुना सकते हैं।

इससे पहले केंद्र सरकार की ओर से पेश अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने शीर्ष अदालत को सूचित किया था कि डेटा संरक्षण पर उपाय सुझाने के लिए गठित कमेटी की रिपोर्ट आ चुकी है। पिछले चार महीने के दौरान आधार को लेकर लंबी सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था।

बता दें कि आधार की वैधता और डेटा सुरक्षा को चुनौती देते हुए कई याचिकाएं दायर की गई थीं। आधार का मसला इसलिए भी चर्चा में छाया रहा कि इसकी वजह से कई कल्याणकारी योजनाओं से लोगों को वंचित होना पड़ा है। तकनीकी खामी और आधार नहीं होने पर गरीब भी सुविधाओं से वंचित हो रहे हैं। इतना ही नहीं, कई मामले आ चुके हैं, जिसमें डेटा लीक होने पर सरकार को सफाई भी देनी पड़ी है।

केंद्र ने सुनवाई के दौरान आधार को मोबाइल फोन से लिंक कराने के अपने निर्णय का पुरजोर तरीके से बचाव किया। हालांकि कोर्ट ने आधार से मोबाइल फोन को जरुरी रूप से जोड़ने के फैसले पर सवाल खड़े किए थे। इतना ही नहीं, आशंका यह भी जताई गई थी कि आधार के लिए ली गई बायोमैट्रिक सूचनाएं कितनी सुरक्षित हैं?

18 अप्रैल 2018 को सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि आधार डेटा लीक की वजह से चुनाव रिजल्ट प्रभावित हो सकते हैं। कोर्ट ने कहा था कि आधार के लिए लिया जाने वाला डेटा सुरक्षित है, यह कहना मुश्किल है, क्योंकि देश में डेटा सुरक्षा को लेकर कोई कानून नहीं है। UIDAI की ओर से कहा गया था कि बायोमेट्रिक डेटा किसी से शेयर नहीं किया जाता हैृ। फिर भी हम सुनिश्चित करेंगे कि डेटा लीक नहीं हो, लेकिन 100 प्रतिशत गारंटी तो नहीं दी जा सकती है।