आप खुद को भगवान श्री राम का सेवक मानते हैं और मैं खुद को आपका सेवक मानता हूं। : पीएम मोदी

0
11

प्रयागराज : भव्य कुंभ में पहले सूबे की मंत्रिमंडल की बैठक फिर पीएम मोदी के आगमन को राजनितिक गलियारे में लोक सभा चुनाव की तैयारियों से जोड़ कर देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी, जवाहर लाल नेहरू के बाद कुंभ में डुबकी लगाने वाले दूसरे प्रधानमंत्री हैं। संगम नोज सील कर दिया गया है। एसपीजी ने संगम के इंतज़ाम अपने हाथ में ले लिए हैं।यहाँ एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, सफाई कर्मियों कि मेहनत के कारण से इस बार कुंभ की पहचान स्वच्छ कुंभ के रूप में हुई। मां गंगा की प्रबलता को लेकर भी इस बार काफी चर्चा है। गत कुछ दिनों से सोशल मीडिया के माध्यम से मुझे ये पता चल रहा था। आज मैंने यहां आकर खुद भी अनुभव किया। नमामि-गंगे के लिए अनेक स्वच्छाग्रही तो अपना पूरा योगदान दे ही रहे हैं, आर्थिक रूप से भी सहायता कर रहे हैं। मैंने भी इसमें अपना छोटा सा योगदान दिया है।

सियोल पीस प्राइज के तौर पर मुझे जो 1 करोड़ 30 लाख रुपए की राशि प्राप्त हुई थी, उसे मैंने नमामि-गंगे मिशन के लिए समर्पित कर दिया है। गत साढ़े चार वर्षों में मुझे जो भी उपहार मिला उसकी निलामी कर मैंने उस राशि को मां गंगा की सफाई के लिए समर्पित कर दिया। हमारे नाविक भी मां गंगा को समर्पित प्रहरी हैं। प्रयागराज और नाविकों का पुराना संबंध है। पीएम ने नाविकों को संबोधित करते हुए कहा कि, आप खुद को भगवान श्री राम का सेवक मानते हैं और मैं खुद को आपका सेवक मानता हूं।