इंदौर कलेक्टर के सख्त निर्देश :: स्कूल बसों में स्पीड गर्वनर, सीसी टीवी, सीट बेल्ट और फस्र्टएड बॉक्स लगाने और जीपीएस सिस्टम लगाना अनिवार्य

0
126

 

कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में स्कूल और कॉलेज संचालकों की बैठक संपन्न हुई। इस अवसर पर कलेक्टर श्री वरवड़े ने स्कूल एवं कॉलेज संचालकों से सख्त लहजे में कहा कि स्कूल व कॉलेज की बसों में सीट बेल्ट, सीसी टीवी कैमरे, फस्र्टएड बॉक्स, स्पीड गवर्नर और जीपीएस सिस्टम लगाना अनिवार्य है। कभी भी किसी भी बस की रेण्डम चैकिंग हो सकती है। आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ मोटर व्हीकल ऐक्ट के तहत कठोर कानूनी कार्यवाही की जायेगी।
श्री वरवड़े ने कहा कि अब भविष्य में इंदौर जिले में कभी भी कोई बस दुर्घटना नहीं होना चाहिए। इस काम को जनता, पालक, पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन और जागरूक नागरिक टीम भावना से मिलकर काम करेंगे। सभी बस संचालकों से शपथ पत्र भरवाया जाएगा। दुर्घटना रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा जागरूक इंदौर नामक एप भी डेवलप किया गया है। इस एप पर बस संचालकों को बसों और बस रूट की जानकारी देना जरूरी है। बच्चों की सुरक्षा जिला प्रशासन का मुख्य लक्ष्य है। इस काम में किसी प्रकार की लापरवाही और हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जायेगी। दुर्भाग्य से दुर्घटना होने पर ड्रायवर के अलावा स्कूल प्रशासन के खिलाफ की कानूनी कार्यवाही की जाएगी। पुरानी बसों के परमिट निरस्त किये जाएंगे। किसी भी प्रकार की रियायत नहीं बरती जाएगी। स्कूल बस संचालन के संबंध में राज्य शासन द्वारा गाइड लाइन तैयार की जा रही है। उस गाइड लाइन का शीघ्र ही प्रभावी क्रियान्वयन किया जाएगा।
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री मोहम्मद युसुफ कुरैशी, अपर कलेक्टर द्वय श्री कैलाश वानखेड़े और अजय देव शर्मा, डीएसपी यातायात श्री प्रदीपसिंह चौहान के अलावा बड़ी संख्या में स्कूल व कॉलेज संचालक मौजूद थे।