इंदौर में अंधविश्वास का गंभीर मामला : नशीली गोलियां खिलाकर युवक करता था मासूम के साथ दुष्कर्म

0
47
21 वी सदी के इस आधुनिक युग में अन्धविश्वास से प्रेरित कई बार ऐसी घटनाएं सामने आ जाती है, जो इंसानियत को शर्मसार करके रख देती है। अंधविश्वास का एक ऐसा ही अजीबों गरीब मामला मध्यप्रदेश के इंदौर से सामने आया है। जंहा पर एक युवक ने एक नाबालिक बच्ची को धन के लालच में न सिर्फ कई तरह की यातनाये दी बल्कि उसके साथ कई बार कुकृत्य भी किया।
इंदौर के गांधीनगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक 25 वर्ष के युवक अजय सोनोने ने अंधविश्वास के चलते अपनी 14 वर्षीय मुँहबोली बहन को शमशान ले जाकर बेड़ियों से बांधकर तंत्र क्रियाएं करता था और कई बार उसे नशीली गोलियां खिलाकर दुष्कर्म भी करता था। जानकारी के मुताबिक पीड़िता पग पायली ( पैरो की और से जन्म लेना) है। जब आरोपी अजय को इस बात का पता चला तो  वह मासूम को बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। वह मासूम को रात में शमसान ले जाकर बेड़ियों से बांधकर तंत्र क्रियाएं भी करता था। बताया जा रहा है कि वह ये सब एक तांत्रिक के कहने पर करा रहा था। तांत्रिक ने युवक को कहा था कि उसे एस करने पर धन कि प्राप्ति होगी। इस काम में युवक की माँ अनीता और दादी नीता भी साथ देते थे।
जब पीड़िता की स्थिति बिगड़ने लगी तब मासूम की माँ द्वारा युवक से पूछे जाने पर उसने उन्हें भूत प्रेत का साया बताकर डरा दिया। बाद में बच्ची की माँ को बेटी से दुष्कर्म होने की घटना पता चलने पर उन्होंने अपने परिजनों की मदद से चाइल्ड लाइन संपर्क किया। चाइल्ड लाइन की और से  बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष माया पांडे ने बच्ची की कॉउंसलिंग करवाई और उसे बेड़ियों से आजाद करवाया। साथ ही घटना की जानकारी एसपी पश्चिम सिद्धार्थ बहुगुणा को दी गयी। उन्होंने मामले में गांधीनगर थाना  प्रभारी को निर्देश दिए। पुलिस ने दुष्कर्म और अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज कर युवक, उसकी माँ और दादी को गिरफ्तार कर लिया है।