उत्पन्ना एकादशी के कुछ अचूक उपाय

0
39

मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष के दिन उत्पन्ना एकादशी होती है। विष्णु भगवान से जन्मी उत्पन्ना एकादशी (Utpanna Ekadashi 2018) का व्रत इस साल 3 दिसंबर को है। इस व्रत से मोक्ष प्राप्ति मिलती है इसलिए हिंदू धर्म के लोग इसे पूरे श्रद्धा भाव से रखते हैं। एकादशियों को विशेष महत्व के कारण ही इनके व्रत कल्याणकारी होते हैं। इस प्रकार उत्पन्ना एकादशी में भगवान विष्णु और एकादशी माता की पूजा की जाती है। उत्पन्ना एकादशी में कुछ उपाय कर लेने से व्यक्ति से सभी मनोरथ सिद्ध हो जाते हैं। इसलिए हम आपको यहां उत्पन्ना एकादशी के कुछ अचूक उपाय बताने जा रहे हैं…

उत्पन्ना एकादशी के 10 उपाय (Utpanna Ekadashi 10 Upay)

  • एकादशी के दिन किसी विष्णु मंदिर में पीले पुष्प की माला अर्पित करें।
  • एकादशी के दिन विष्णु भगवान को तुलसी के पत्तों वाली केशर की खीर का भोग लगाएं।
  • एकादशी की सुबह पीपल के पेड़ की पूजा करें, पेड़ की जड़ में कच्चा दूध चढ़ाएं और घी का दीपक जलाकर लौट आएं।
  • एकादशी के दिन निर्जला व्रत करना चाहिए। व्रत का संकल्प लें और व्रत द्वादशी के दिन ही तोड़ें।
  • एकादशी के दिन सुहागिन स्त्रियों को घर पर दावत दें, उन्हें फलाहार करवाएं और सुहा सामग्री दान करें।
  • एकादशी के दिन तुलसी पूजा अति लाभकारी है।
  • तुलसी के घी का दीपक जलाये और आरती गाएं।
  •  एकादशी पर तुलसी पूजा के साथ ॐ नमो भगवत वासुदेवाय मंत्र का जाप करें।
  • तुलसी माता की 11 बार परिक्रमा करें।
  • एकादशी के दिन दक्षिणावर्ती शंख की पूजा करें।
  • एकादशी के दिन भगवान विष्णु व माता लक्ष्मी की विधिवत पूजा करें।
  • एकादशी पर्व पर पीले फलों, अन्न और पीले वस्त्र का दान करें।

.