कासगंज: हिंसा के मद्देनज़र प्रशासन ने लागू की धारा 144

0
15

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कासगंज में गत वर्ष गणतंत्र दिवस पर भड़की हिंसा के मद्देनज़र इस बार प्रशासन ने अभी से यहां धारा 144 लागू कर दी है. प्रशासन ने सतर्कता दिखाते हुए पूरे इलाके में किसी भी तरह की रैली करने पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. एहतियातन पूरे इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

पुलिस ने फ्लैग मार्च रिहर्सल के साथ ही किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए छतों पर लाइट मशीनगन तैनात कर दी हैं. उल्लेखनीय है कि गत वर्ष तिरंगा यात्रा के दौरान यहां जबरदस्त हिंसा भड़क गई थी. हिंसा में गोली चलने से चंदन गुप्ता नामक एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. इस साल चंदन के परिजन तिरंगा यात्रा निकालना चाहते थे, लेकिन प्रशासन ने उन्हें भी मंजूरी नहीं दी है.

गत वर्ष गणतंत्र दिवस पर कासगंज में हुई हिंसा के आरोपी ने फेसबुक पर बंदूक लिए हुए तस्वीर साझा की है. इस पोस्ट को शेयर के साथ उसने भड़काऊ बातें भी लिखी है. पुलिस ने एहतियातन कार्यवाही करते हुए उस पोस्ट को डिलीट करवा दिया है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. कासगंज के सीओ गबेन्द्र पाल गौतम ने कहा है कि विशाल ठाकुर और अनुकल्प चौहान नामक दो व्यक्तियों ने सोशल मीडिया के माध्यम से शांति भंग करने का प्रयास किया है. पुलिस ने इन दोनों के खिलाफ शांति भंग करने की कोशिश करने का मामला दर्ज कर इन्हे गिरफ्तार कर लिया है.