गलती की किसी और ने ….जेल भेज दिया किसी और को

0
117
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
इंदौर। शहर की पुलिस एक बार फिर सवालों के घेरे में खड़ी हुई है। पुलिस पर एक व्यक्ति को गलत तरीके से गिरफ्तार कर जेल भेजने का आरोप लगा है। उसे बिजली चोरी के आरोप में जेल भेजा गया, जबकि बिजली कंपनी द्वारा किसी और का पंचनामा बनाया गया था।
एरोड्रम थाना क्षेत्र के पंचशील नगर का रहने वाले शमशुद्दीन ने डीआईजी को शिकायत की है कि 2013 में उसके इलाके में बिजली चोरी के मामले में एमपीईबी कर्मचारी पंचनामा बनाने आये थे।वहा वहा खड़ा होकर कार्रवाई को देख रहा था। उन्होंने धर्मेन्द्र ठाकुर नामक व्यक्ति का पंचनामा बनाकर उस पर 16 हजार रुपयों का जुर्माना लगाया था, लेकिन ये रुपया उसने 4 साल बाद तक नहीं भरा। मार्च महीने में एरोड्रम पुलिस उसके पास पहुंची और उसे बिजली चोरी के प्रकरण में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
शमशुद्दीन के मुताबिक वह अनपढ़ है और जो कागजात पुलिस लेकर पहुंची थी, वह कागजात नहीं पढ़ सका और पुलिस ने निर्दोष को पकड़कर बिना जाँच किये उसे जेल पंहुचा दिया। 1 महीने 4 दिन जेल रहकर वह वापस लौटा, तब मालूम पड़ा कि जिस पंचनामे की वजह से उसे जेल जाना पड़ा था वह किसी और के नाम था। मामले में प्रभारी डीआईजी आरके सिंह ने जांच के आदेश दिए हैं।