दुनिया का सबसे पावरफुल सुपरकम्यूटर

0
25

जालंधर. अमरीकी डिपार्टमेंट ऑफ एनर्जी ने दुनिया के सबसे फास्टैस्ट सुपरकम्पयूटर को पहली बार लोगों के सामने दिखाया है. यह सुपरकम्पयूटर 200 पैटाफ्लोप्स (petaflops) पर काम करता है और एक सैकेंड में 200,000 ट्रिलियन कैल्क्युलेशन्स करने की क्षमता रखता है. अमरीकी मल्टी प्रोग्राम साइंस और टैक्नोलॉजी नेशनल लैबोरेटरी (ORNL) द्वारा Summit नामक इस सुपरकम्पयूटर का अनावरण किया गया है. ORNL ने ही पिछले सुपरकम्पयूटर Titan को भी बनाया था जो 7 पैटाप्लोप्स पर आधारित था और इसे वर्ष 2012 में लाया गया था. Summit को लेकर बताया गया है कि यह Titan से 8 गुणा ज्यादा स्पीड से काम करता है और दुनिया का सबसे पावरफुल सुपरकम्यूटर है.

सुपर कम्पयूटर में लगे 4,608 सर्वर्स

Summit सुपर कम्पयूटर में IBM AC922 सिस्टम्स का उपयोग किया गया है और इनमें 4,608 सर्वर्स लगे हैं जिनका साइज़ दो टैनिस कोर्ट के बराबर है. इनमें से हर एक में दो 22-core IBM Power9 प्रोसैसर्स लगाए गए हैं वहीं अलग से 6 NVIDIA Tesla V100 ग्राफिक्स प्रोसैसिंग यूनिट्स भी लगे हैं जो इसे 100Gb/s की स्पीड पर काम करने की क्षमता प्रदान करते हैं.

कूलिंग सिस्टम

एनगैजेट की रिपोर्ट के मुताबिक Summit सुपर कम्पयूटर कूलिंग के लिए एक मिनट में 4,000 गैलोन (15,141 लीटर) पानी का उपयोग करता है. वहीं इसे चलाने के लिए 8,100 घरों में उपयोग की जाने वाली बिजली जितनी मात्रा की जररूत पड़ती है.

टैक्नोलॉजी डिपार्टमेंट में दुनिया को लीड कर रहा अमरीका

सेक्रेटरी ऑफ एनरर्जी (Secretary of Energy) रिक पेरी (Rick Perry) ने बताया कि Summit सुपर कंप्यूटर के लॉन्च पर यह कहा जा सकता है कि टैक्नोलॉजी डिपार्टमेंट में अमरीका दुनिया को लीड कर रहा है. इसकी मदद से एनर्जी रिसर्च, साइटिफिक डिस्कवरी और नैशनल सेक्योरिटी को बढ़ावा मिलेगा. इसने अमरीका को वर्ष 2021 तक एक्सास्केल (exascale) सुपर कम्पयूटर को डिलीवर करने के लक्ष्य के एक कदम पास पहुंचा दिया है. इसके जरिए अमरीकी लोगों को नए चुनौतीयां व खोज को आगे ले जाने में काफी मदद मिलेगी.