पीएम मोदी का बयान : आगे आए “तीन तलाक” के खिलाफ मुस्लिम समाज

0
229

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने आज विस्वेश्वर जयंती के उपलक्ष्य में विज्ञान भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए “तीन तलाक” पर बयान दिया। पीएम मोदी ने कहा कि समाज के अंदर से सुधार आएगा, मुस्लिम समाज ही तीन तलाक के मुद्दे पर अपनी लड़ाई खुद लड़ेगा। पीएम ने कहा कि तीन तलाक के मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं होने देना चाहिए।

‘भारत की परंपरा पर भरोसा’

‘बासवा जयंती’ के अवसर पर नई दिल्ली के विज्ञान भवन में तीन तलाके मुद्दे पर बोलते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि “प्रत्येक महिला को अपनी बात कहने का हक है। लोगों को महिलाओं के हक के लिए आगे आऩा चाहिए।” मुस्लिम समुदाय से अपील करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि “समाज के अंदर से ही सुधार होगा, इसलिए मुस्लिम समाज को तीन तलाक जैसे मुद्दों पर खुद ही लड़ाई लड़नी होगी।” पीएम ने इस दौरान मुस्लिम समाज से कहा कि “वह समाज में सुधार के लिए आगे आए और तीन तलाक के मुद्दे का राजनीतिकरण ना होने दे।”

भारत का इतिहास काफी समृद्ध

कार्यक्रम के दौरान भारत के इतिहास पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत का इतिहास सिर्फ गरीबी, गुलामी और सांप और नेवले की लड़ाई का नहीं है, ब्लकि यह तो गुड गवर्नेंस, अहिंसा और सत्याग्रह का इतिहास है।

महिलाओं के हक के लिए सभी वर्गों से आगे आने की अपील

प्रधानमंत्री मोदी ने महिलाओं के हक के लिए सभी वर्गों से आगे आने की अपील की। मोदी ने कहा कि, “देश में सबको साथ लेकर सबके प्रयास से सबका विकास किया जा सकता है।” मोदी ने कहा, “देश के सभी नागरिकों को बिना भेदभाव मकान और बिजली का हक है। मुद्रा योजना के तहत अब 8 लाख करोड़ रुपये का कर्ज दिया गया है और इसमें 70 फीसदी महिलाएं हैं।”
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ” सरकार की इस योजना से महिलाओं का वास्तव में सशक्तिकरण हुआ है।”