पुत्र पैदा होना भाग्य की बात है एवं पुत्री पैदा होना सौभाग्य की बात है

0
5
सांईनाथ मेमोरियल हायर सेकेण्डरी मे मनाया 108 वां अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस
देवास। सांईनाथ मेमोरियल हायर सेकेण्डरी मे 108 वां अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मातृशक्ति सम्मेलन आयोजित कर मनाया गया।  विद्यालय संचालक शकील कादरी ने बताया कि सम्मेलन मे मातृशक्तियो के लिए अनेक प्रकार के बौद्धिक, तार्किक व मनोरंजनीय खेलो की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई, जिसमे महिलाओ ने बढ़-चढक़र भाग लिया। कार्यक्रम मे अतिथि के रूप मे अंतर्राष्ट्रीय कायस्थ समाज सचिव आभा निगम, लेखिका एवं साहित्यकार अनिता कुमावत, स्वर्णकार समाज सचिव राजश्री सोनी, भारत विकास परिषद की कार्यकारिणी सदस्य कविता जोशी थी। अध्यक्षता विद्यालय की वरिष्ठ श्रीमती बदरूनिशा कादरी ने की। कार्यक्रम के पूर्व प्रत्येक नारी शक्ति को स्माईली बेच विद्यालयीन स्टॉफ द्वारा सम्मान पूर्वक लगाए गए। कार्यक्रम की विशेषता यह रही कि समस्त अतिथि एवं उपस्थित सभी मातृशक्ति गुलाबी वस्त्र धारण किए थी। अतिथियो ने उद्बोधन मे नारी जाति का जमकर महिमा मण्डन किया। श्रीमती निगम ने कहा कि पुत्र पैदा होना भाग्य की बात है एवं पुत्री पैदा होना सौभाग्य की बात है। श्रीमती सोनी ने कहा कि नारी नारायणी है, इसका जितना सम्मान किया जाए, उतना ही कम है। कार्यक्रम को अन्य अतिथियो ने भी संबोंधित किया। विद्यालय प्राचार्या श्रीमती मिश्कात शकील ने कहा कि नारी तितली है, पंक्षी है, लहर है, धाराएं है, मोती है, अग्रि है, प्रकृति की प्रतिकृति है। हम स्त्री है कहकर महिला को संबोंधित किया। आपके सारगर्भित उद्बोधन से मातृशक्ति की आंखे नम हो गई। संचालन शमामा शकील ने किया एवं आभार संचालक शकील कादरी ने माना।