पेंशनरों को महंगाई राहत स्वीकृति में छत्तीसगढ की स्वीकृति का स्थाई हल निकालने सहित कई मांगों का ज्ञापन सौंपा

0
14
देवास। मध्यप्रदेश सेंट्रल कमेटी ऑफ पेंशनर्स एवं वरिष्ठ नागरिक एसोसिएशन अपेक्स बॉडी से सम्बद्ध पेंशनर एवं वरिष्ठ नागरिक कल्याण संघ जिला देवास तथा तहसील शाखा देवास ने संयुक्त रूप से मुख्यमंत्री कमलनाथ को सम्बोधित एक ज्ञापन जिले के संयुक्त कलेक्टर शोभाराम सोलंकी को सौंपा जिसमें प्रदेश के पेंशनर्स एवं वरिष्ठ नागरिकों की लंबित मांगों को शीघ्र पूरा करने का आव्हान किया गया है। जिनमें प्रमुख हैं पेंशनर को महंगाई राहत स्वीकृत करने में प्रदेश सरकार तथा छत्तीसगढ राज्य सरकार की नूरा कुश्ती समाप्त करने केे लिए दोनों राज्यों के सक्षम अधिकारियों की संयुक्त बैठक बुलाकर स्थाई हल निकालने की  परिणाम मूलक पहल तत्काल की जावे। वर्र्तमान पार्टी के विधानसभा चुनाव दृष्टि पत्र में छटे वेतन मान के 32 माह के ऐरियर तथा सातवें वेतनमान के 27 माह के एरियर का एक माह की अवधि में निराकरण करने का वचन दिया था। परंतु खेद है कि कई महीने बीतने पर भी अभी तक कोई पहल नहीं की गई है। इस बाबद शीघ्र निर्णय लेकर आदेश जारी किए जावें। प्रदेश के कर्र्मचारियों की तरह पेंशनर्स को भी महंगाई राहत देने के लिए वचनबद्ध प्रदेश सरकार पेंशनर्स को भी शेष चार प्रतिशत महंगाई राहत तथा जनवरी 2019 से प्रस्तावित 3 प्रतिशत महंगाई राहत प्रदान करने के आदेश शीघ्र प्रसारित करें। पेंशनर को 70 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 10 प्रतिशत अतिरिक्त पेंशन देना प्रारंभ करें तथा शेष 80 वर्ष तथा आगे की अतिरिक्त पेंशन पूर्ववत जारी रखें। पेंशनर को 1000 प्रतिमाह चिकित्सा भत्ता दिया जावे। न्यूनतम पेंशन 9000 रू की जावे। जिले की रोगी कल्याण समिति में पेंशनर संघ के पदाधिकारियों की भागीदारी सुनिश्चित की जावे। निराश्रित वरिष्ठजनों को अभी मिल रही मु_ीभर पेंशन को बढ़ाकर 3000 प्रतिमाह किया जावे। माता पिता एवं वरिष्ठ नागरिक भरण पोषण नियम 2009 का व्यापक प्रचार प्रसार कर उसका क्रियान्वयन अधिक क्रियाशीलता के साथ किया जाए। सामाजिक सुरक्षा अंतर्गत स्वीकृत पेंशन को भी महंगाई सूत्र से जोड़ा जावे। आम बुढ़ापा पेंशन चाहता पात्रता अनुसार शीघ्र क्रियान्वयन नीति बनाई जाए तथा उसे मूर्त रूप भी दिया जाए। पेंशनर को आयकर से मुक्त रखे जाने सहित कई मांगें सम्मिलित की गई हैं। 
ज्ञापन का वाचन जिलाध्यक्ष ओ.पी. तिवारी ने किया तथा ज्ञापन देते समय प्रदेश के कार्यकारी प्रांताध्यक्ष एवं पूर्व जिलाध्यक्ष मांगीलाल मालवीय, प्रदेेश उपाध्यक्ष हेमलता परिहार, संस्थापक जगदीश जोशी, संरक्षक फूलसिंह नागर, कार्यकारी जिलाध्यक्ष ब्रजेश कुमार जोशी, जिला कोषाध्यक्ष मनमोहन जोशी, महामंत्री नरेन्द्र कुमार जोशी, तहसील शाखा देवास अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण मोहरी, कृष्णकांत दुबे, एस.डी.शर्मा, सुमन शुक्ला, पी.सी. सेन, एस.एन.चौधरी, अफसर बेग मिर्जा, रामलाल लुवानिया, रामसिंह वीरपरा, ओमप्रकाश कारपेंटर, मांगीलाल मोहरी, देवीलाल झाला, हेमरसिंह नागर, रमेशचंद्र वर्मा, आत्माराम सोलंकी, सज्जनसिंह मालवीय, श्याम सोनगरे, रतनलाल मालवीय, हरिशंकर उपाध्याय, शांतिबाई, श्रीमती कर्पे, हरिनारायण शर्मा, एस.पी. राठौर, सुभाष व्यास सहित कई पेंशनर्स एवं वरिष्ठ नागरिक उपस्थित थे।