बूढ़ी बरलई में ग्राम संसद व कृषि संगोष्ठी में शामिल हुए प्रभारी मंत्री

0
194
प्रदेश में विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्र में अधोसंरचना के लिये तेजी से कार्य हुए हैं। बिजली, सड़क, पानी अधोसंरचना की मुख्य मदें मानी जाती है। वर्ष 2004 में जहाँ साढ़े 4 हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन होता था, वहीं अब साढ़े 17 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन हो रहा है। प्रदेश में सड़कों का जाल फैल गया है और शायद ही कोई गाँव सड़क के लिये अब शेष बचा हो। मुख्यमंत्री सड़क योजना के अन्तर्गत बनी सड़कों के डामरीकरण के लिये भी अब सरकार पैसा देने जा रही है और जल्दी ही ये सड़कें भी डामरीकृत हो जायेंगी। सिंचाई का रकबा भी 2004 से अब तक साढ़े 5 गुना बढ़ा है। यह बात बुधवार 19 अप्रैल को सांवेर विकासखण्ड के ग्राम बूढ़ी बरलई में ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के तहत आयोजित ग्राम संसद व विकासखण्ड स्तरीय कृषि संगोष्ठी में जिले के प्रभारी मंत्री व वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया ने स्थानीय लोगों को संबोधित करते हुए कही।
वित्त मंत्री श्री मलैया ने कहा कि प्रदेश में पिछले वर्षों में कृषि विकास दर के मामले में कीर्तिमान स्थापित हुआ है। उन्होंने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है और कृषि में वृद्धि होगी तो हमारी जीडीपी भी बढ़ेगी। मंत्री श्री मलैया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में हर क्षेत्र में तेजी से विकास हुआ है। गाँव-गरीब व किसान सरकार की प्राथमिकता में हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्रीजी और मुख्यमंत्रीजी का यह सपना है कि हर व्यक्ति का अपना घर हो, उसकी अपनी छत हो। इस दिशा में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत प्रदेश भर में तेजी से आवास बनाये जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि ग्राम संसद में शासन की विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं के हितग्राहियों की सूची पढ़कर सुनाई जायेगी। सूची में जो अपात्र लोग हैं वे लोग अपना नाम स्वैच्छा से कटवा दें और जो पात्र है उन लोगों को शासन की योजनाओं का लाभ दिलवाने में सहयोग करें। मंत्री श्री मलैया ने यह भी आग्रह किया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में किश्तों के रूप में मिलने वाली राशि आवास निर्माण पर ही खर्च करें ताकि अच्छे से अच्छा भवन बनकर तैयार हो सके।
विधायक श्री राजेश सोनकर ने इस अवसर पर कहा कि सरकार की मंशा है कि गाँव विकास के कार्य अब गाँव के लोग ही मिलकर तय करें। गाँव की जरूरतों को प्राथमिकता क्रम में तय करें तथा गाँव के विकास की कार्ययोजना तैयार करें। इसी उद्देश्य से ग्रामोदय से भारत उदय अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने ग्रामीणों से कृषि संगोष्ठी में आने तथा कृषि वैज्ञानिकों द्वारा दी जाने वाली उन्नत तकनीकों को अपनाने का आग्रह किया। कार्यक्रम में अध्यक्ष जिला पंचायत सुश्री कविता पाटीदार ने भी अपने विचार रखे और कहा कि ग्रामोदय अभियान में अधिकारी और गाँव के लोग एक ही छत के नीचे बैठते हैं और गाँव की समस्याएं मिलजुल कर हल करते हैं। कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री के.के. खेड़े ने ग्रामोदय से भारत उदय अभियान की रूपरेखा से अवगत कराया।
प्रभारी मंत्री श्री जयंत मलैया की उपस्थिति में ग्राम पंचायत बूढ़ी बरलई की दो वर्षीय ग्राम पंचायत विकास योजना का वाचन किया गया। ग्राम विकास की यह कार्ययोजना लगभग डेढ़ करोड़ की बनाई गई है। जिसमें वर्ष 2017-18 के लिये 77 लाख 50 हजार रूपये तथा वर्ष 2018-19 के लिये 69 लाख 10 हजार रूपये विकास कार्यों पर खर्च करने का प्रस्ताव है। ग्राम संसद में ग्राम पंचायत की आय का भी प्रस्तुतिकरण किया गया। कार्यक्रम के अन्त में गाँव की महिला सम्पतबाई को 25 हजार रूपये का चेक प्रभारी मंत्री द्वारा दिया गया। विधायक श्री सोनकर ने बताया कि महिला सम्पतबाई ने स्वच्छ भारत अभियान से प्रेरित होकर अपने घर में शौचालय निर्माण हेतु स्वयं के गहने गिरवी रखे और इससे प्राप्त राशि से घर में शौचालय बनवाया।
प्रभारी मंत्री श्री मलैया ने पीर कराढ़िया में किया सीसी रोड का लोकार्पण
प्रभारी मंत्री श्री जयंत मलैया ने ग्राम बूढ़ी बरलई में ग्राम संसद में भाग लेने के बाद पीर कराढ़िया पहुंचकर सीसी रोड का लोकार्पण किया। यह सड़क ग्राम पंचायत द्वारा पंच परमेश्वर योजनान्तर्गत  8 लाख 44 हजार रूपये की लागत से बनाई गई है। लोकार्पण कार्यक्रम के अवसर पर विधायक डॉ. राजेश सोनकर, अध्यक्ष जिला पंचायत सुश्री कविता पाटीदार, नागरिक आपूर्ति निगम के उपाध्यक्ष श्री देवराज सिंह परिहार, मण्डल अध्यक्ष श्री सुरेश सिंह व अन्य जनप्रतिनिधिगण के अलावा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती कीर्ति खुरासिया, एसडीएम सांवेर श्री रवीश श्रीवास्तव व अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।
प्रभारी मंत्री ने पीर कराढ़िया में निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवास का किया अवलोकन
प्रभारी मंत्री श्री जयंत मलैया ने पीर कराढ़िया में ही हितग्राही श्री जसवन्त सिंह पिता अन्तर सिंह के निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवास का मौके पर पहुंचकर अवलोकन किया। इस दौरान उनके साथ क्षेत्रीय विधायक डॉ. राजेश सोनकर, अध्यक्ष जिला पंचायत सुश्री कविता पाटीदार, नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष श्री देवराज सिंह परिहार सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण व अधिकारीगण मौजूद थे। मंत्री श्री मलैया ने हितग्राही श्री जसवन्त से भी चर्चा की और नये भवन के लिये शुभकामनाएं दी। उन्होंने हितग्राही को प्रधानमंत्री आवास योजना में मिली पूरी राशि को मकान पर ही खर्च करने और सुंदर भवन बनाने की समझाइस दी। मंत्री श्री मलैया ने मकान की गुणवत्ता पर संतोष व्यक्त किया।
हितग्राही ने बताया कि 40-40 हजार रूपये की तीन किश्तों के रूप में उसे एक लाख 20 हजार रूपये की राशि प्राप्त हुई है। आवास निर्माण का कार्य लगभग पूर्णता की ओर है। प्लास्टर व शौचालय का कार्य ही बचा है। हितग्राही श्री जसवन्त ने प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया और बताया कि मेहनत मजदूरी कर वे अपने परिवार का जीवनयापन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम आने पर उसके सपने पूरे हो गये हैं और चार माह में यह मकान बनकर लगभग पूरा होने जा रहा है। इसके पहले वह टीन शेड के मकान में गुजर-बसर कर रहे थे।