मतगणना अभिकर्ताओं के पास जारी करने हेतु नाम व फोटो उपलब्ध कराने के निर्देश

0
35
कलेक्टर की अध्यक्षता में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ स्टेडिंग कमेटी की बैठक संपन्न
कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने मतगणना संबंधी व्यवस्थाओं की दी जानकारी
       देवास, 01 दिसंबर 2018/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय की अध्यक्षता व पुलिस अधीक्षक अनुराग शर्मा की विशेष उपस्थिति में शनिवार को कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की जिला स्तरीय स्टेडिंग कमेटी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में सीईओ जिला पंचायत राजीव रंजन मीणा, एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी, एएसपी अनिल पाटीदार, उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजेंद्र रघुंवशी, रिटर्निंग अधिकारीगण तथा मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।
 बैठक में कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने शांतिपूर्ण मतदान संपन्न्? होने पर सभी के सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हुए बताया कि जिले में विधानसभा निर्वाचन-2018 के लिए कुल 81.62 प्रतिशत मतदान हुआ है, जबकि पिछले चुनाव-2013 में 76.81 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस प्रकार 4.81 प्रतिशत उल्लेखनीय सुधार हुआ है और देवास जिला वोटर टर्नआउट के मामले में प्रथम 10 जिलों में शामिल है।
कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने बताया कि मतदान संपन्न होने के तत्काल बाद ईवीएम मशीने, राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों/अभ्यर्थियों की उपस्थिति में बीएनपी स्थित स्ट्रांग रूम में रखवाई गई है। स्ट्रांग रूम की निगरानी हेतु सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। अभ्यर्थी या उनके प्रतिनिधि भी स्ट्रांग रूम के बाहर नियत स्थल पर रहकर निगरानी कर सकते हैं। बैठक में मतगणना से संबं?धित व्यवस्थाओं की भी विस्तार से जानकारी दी गई। कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने बताया कि देवास व हाटपीपल्या विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना केंद्रीय विद्यालय भू-तल पर स्थित अलग-अलग हॉल में की जाएगी। वहीं सोनकच्छ, खातेगांव व बागली विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना प्रथम तल स्थित कक्षों में की जाएगी। प्रथम तल पर प्रत्येक विधानसभा के लिए दो-दो कक्षों में मतगणना की जाएगी। प्रत्येक विधानसभा में मतगणना के लिए 14-14 टेबलें लगाई जाएगी। कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे मतगणना अभिकर्ताओं के नाम व फोटो यथाशीघ्र रिटर्निंग अधिकारियों को उपलब्ध करा दें ताकि मतगणना अभिकर्ताओं के पास जारी किए जा सके। बैठक में मतगणना अभिकर्ताओं के प्रवेश तथा वाहनों की पार्किंग व्यवस्था के संबंध में भी जानकारी दी गई।
प्रतिबंधित सामग्री लेकर न आएं
   पुलिस अधीक्षक अनुराग शर्मा ने स्ट्रांग रूम की सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार स्ट्रांग रूम की सुरक्षा हेतु त्रिस्तरीय व्यवस्था की गई है। आंतरिक स्तर पर सीआरपीएफ के जवान, मध्य स्तर पर मप्र का एसएएफ बल के जवान तथा बाहरी स्तर पर जिला पुलिस बल के जवान स्ट्रांग रूम की सुरक्षा के लिए लगाए गए हैं। उन्होंने प्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि वे मतगणना अभिकर्ताओं को बताए कि मतगणना स्थल पर कोई भी अभिकर्ता प्रतिबंधित सामग्री जैसे ज्वलंन शील सामग्री माचिस, बीड़ी, मोबाइल या शस्त्र लेकर न आएं। इन वस्तुओं पर प्रतिबंध रहेगा। बैठक में मतगणना हेतु प्रतिनिधियों व मतगणना अभिकर्ताओं के प्रशिक्षण हेतु भी दिनांक नियत की गई है। दिनांक 8 दिसंबर 2018 को दोपहर बाद एक बजे से जिला पंचायत के सभाकक्ष में प्रशिक्षण दिया जाएगा।