मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ब्राह्मणसमाज के सामूहिक परिणय उत्सव में हुए शामिल

0
83

इंदौर 12 मार्च,2018 

            मुख्यमंत्री ने ब्राह्मण समाज के इस आयोजन में परशुराम के जय घोष के साथ उद्बोधन करते हुए कहा कि ब्राह्मणसमाज की त्याग की प्रतिमूर्ति है। आदिकाल से समाज ,देश और जनमानस के लिए त्याग करता रहा है। ब्राह्मण हमेशा दूसरों के लिए जीवन यापन करता है। पूजन, आश्रीबाद, और सारे कर्मकांड जन्म से लेकर मृत्यु तक में ब्राह्मण की भूमिका सर्वविदित है।

कार्यक्रम में स्टेज के पास कारकेट की कार स्टेज के पास लाये जाने पर नारजगी व्यकत की और कहा यह समानध बा किनिशानी है इसे हटाया जाये संत समाज के बीच पेदल चल कर ही जाया जात है तभी आपको सम्मान ‍आर्शिवाद  प्राप्त होता है

            मुख्यमंत्री ने कहा कि ये समाज विश्व के कल्याण के लिए कार्य करता है । समाज के सनातन धर्म के ध्वज वाहक है। सबकी कामना वाला ये समाज आज भी हजारो वर्षो से पूजनीय है। शास्त्रो में व्यक्त शांति के पाठ , सर्व कुटुम्ब की अवधारणा को लाने वाले इस समाज को पूरा विश्व का ज्ञान देने वाला है। शंकरचार्य ओंकारेश्वर की 108 फिट ऊँची प्रतिमा को लगने कार्य भी इस समाज की देन है। भगवान परशुराम की इस पावन भूमि जानापाव को विश्व स्तरीय केंद्र बनाने के लिए हम प्रयास रत है।

       मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विधायक मेंदोला जानापाव में जो भी कार्य करने है उसके लिए फिर से कार्ययोजना बनाये और जो काम बचे है उसे पूरा करने के लिए लग जाये,मुख्यमंत्रीजी ने कहा कि   प्राणियो की सद्भावना, विश्व का कल्याण, की कामना करने वाले इस समाज को नमन करता हु।  विश्व मे शांति और कल्याण करने वाले समाज के भांजे और भांजियों के विवाह समारोह में शामिल होकर धन्य महसूस कर रहा हूं सभी बेटी दामाद सुख से रहे और परिवार के साथ  प्रदेश  के  विकास में भी योगदान दे। कार्यक्रम में विधायक रमेश मेंदोला, कैलाश शर्मा  , साधु संत, हजारो की संख्या में ब्राह्मण समाज के लोग उपस्थित रहे।

        भांजी और भांजे दामाद के  इस शुभ परिणय मिलन में मेरी  और से सरकार की और से आम जनता की और से शुभकामनये है।   इस कार्यक्रम में भाग लेने का जो उत्साह दिख रहा है वो अद्भुत है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सोने से निर्मित सोने के आभूषण भी बेटी दामाद को भेट किये गए ये स्वर्ण आभूषण आयोजन समिति की और से वर वधु को भेट किये  ।