वानरराज के तेहरवे पर हुआ विशाल भण्डारा

0
167
देवास। कालूखेड़ी में रामनवमी के दिन वानरराज (बंदर) की डीपी से करंट लगने से मृत्यु हो गई थी। समाजिक कार्यकर्ता अनिलसिंह ठाकुर ने बताया कि वानरराज की मृत्यु हुई उस दिन कालूखेड़ी में श्री राम दरबार की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन चल रहा था। उसी समय कालूखेड़ी बायपास मार्ग पर डीपी से करंट लगने से वानरराज की मौत हो गई थी। ग्रामीणों ने परम्परानुसार वानरराज की शवयात्रा गांव में निकालकर गांव के गिरवरसिंह कलौता ने अंतिम संस्कार किया। वानरराज के तेहरवें पर गांव में विशाल भण्डारा आयोजित किया गया। जिसमें कालूखेड़ी, महांकाल कालोनी, अमलावती सहित विभिन्न क्षेत्रों के हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने महाप्रसादी गृहण कर वानरराज को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर गांव के प्रमुख छतरसिंह गौड़ बोराड़े, गोकुलसिंह गौड़, शैलेन्द्रसिंह गौड़, राहुल, रामचंदर बमोतत्रिया, राजेन्द्र कलोता, इंदरसिंह गौड़, सत्यराजसिंह ठाकुर सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने कार्यक्रम को सफल बनाने में सराहनीय योगदान रहा।