साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण , और इसके आयुवेर्दिक उपाय

0
248

व्यक्ति को हार्ट अटैक हो लेकिन सीने में दर्द की शिकायत ना हो। तो इसे साइलेंट हार्ट अटैक कहते है ऐसे में उस व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। साइलेंट हार्ट अटैक के ऐसे कई लक्षण है जिन्हें आप महसूस कर इस समस्या से रोगी को समय रखते हुए बचा सकते है। जरुरी नहीं है कि हार्ट अटैक में आपके सीने में जलन या फिर सीने में दर्द हो। इसलिए इसके लक्षणों का जनना बहुत ही जरुरी है। जिससे कि आपको समय में पता चल सके। इसके कुछ लक्षण बताए गए है। इसके साथ ही कुछ ऐसी आयुर्वेदिक उपाय बताएं गए है। जिसका उपयोग कर आप इस रोग को दोबारा आने से रोक सकते है।
जानिए साइलेंट हार्टअटैक आने के लक्षण

-पेट की समस्या है जैसे पेट में गैस का बनना, पेट खराब होना आदि।
-मरीज को बेवजह की थकावट का होना वो भी बिना चेस्ट पेन के।
-मरीज को अचानक से पसीना आना, यह भी साइलेंट हार्ट अटैक का मुख्य लक्षण होता है।
-सांस फूलना। रोगी की सांसे तेज हो जाती है और वह हांफने लगता है।
-इसके अलावा वे रोगी जो डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और हाई कोलेस्ट्राल की बीमारी से ग्रसित हैं उन पर भी साइलेंट हार्ट -अटैक होने का खतरा अधिक होता है इसलिए समय रहते मरीज में इन लक्षणों को पहचान पाना ही सही समझदारी होती है। ताकि समय रहते रोगी को बचाया जा सके।
-अगर समय में मरीज की इसीजी और इकोकार्डियोग्राफी हो गई, तो उसकी जान बचाई जा सकती है।

आयुवेर्दिक उपाय-

  • पीसे हुए आंवले के पाउडर को दूध के साथ मिलाकर दिन में 2 बार खाने से हार्ट अटैक की संभावना कम हो जाती है। दूध के अलावा आप इसे पानी से भी ले सकते है।
  • अगर आपका हार्ट कमजोर है, तो आप एक गिलास पानी में थोड़ा सा नींबू डालकर रोजाना पिेएं।
  • अदरक का सेवन भी हार्ट अटैक के मरीजों के लिए फायदेमंद है। इसमें मौजूद गुण शरीर के रोगों को खत्म करते हैं।
  • ग्रीन टी शरीर में मौजूद नसों और धमनियों को ताकत देती है। जिससे शरीर में खून का संचार अच्छी तरह से होने लगता है। और हार्ट अटैक की संभावना भी कम हो जाती है।
  • फलों में लीची, अमरूद, सेब, अन्नास का सेवन करना चाहिए।
  • जितना हो सकें। उतना कम से कम ऑयली चीजों का सेवन करें।
  • सुबह-सुबह टहलना आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। इसलिए जितना हो सकें सुबह के समय जरुर चलें। इसके साथ ही हरी घास में नंग पैर जरुर चलें। यह आपके हार्ट के लिए काफी फायदेमंद है।