सिगरेट से ज्यादा खतरनाक होता है अगरबत्ती का धुँआ …

0
364

 

सिगरेट हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है ये हमने अक्सर सुना है| जो लोग सिगरेट का सेवन करते है उनको तमाम तरह की शारीरिक परेशानी का सामना करना पड़ता है| क्योंकि उससे निकलने वाला धुआं हमारे फेफड़े पर सीधा असर करता है ।

इसीलिए सिगरेट पीने वालों को इसे पीने से रोका जाता है| लेकिन सिगरेट के धुएं के अलावा एक ऐसी चीज़ है जिसका प्रयोग हम डेली अपनी लाइफ में करते हैं| लेकिन उससे उठने वाला धुआं हमारे लिए सिगरेट के धुएं से भी अधिक खतरनाक है| जी हाँ|| हम बात कर रहे हैं अगरबत्ती की| अगरबत्ती का धुआं हमारी कोशिकाओं में आनुवंशिक स्तर पर गंभीर बदलाव लाता है ।

यहां तक कि ये बदलाव कैंसर का मुख्य कारण बन जाता है| अगरबत्ती का धुआं फेफड़ों में जम जाता है और फेफड़ों के कैंसर में तब्दील हो जाता है| अगरबत्ती के धुएं में जो केमिकल होता है वो आपका डीएनए तक बदल सकता है| दमा व सांस की बीमारियां भी इस धुएं की देन हैं ।

त्‍वचा और आंखे : ज्यादा देर तक अगरबत्ती के धुएं में रहने से स्किन प्रॉब्लम हो जाती है और आंखों में भी जलन होने लगती है| अगरबत्ती के धुएं में मौजूद केमिकल के संपर्क में आने से त्वचा और आंखों में जलन और खुजली होने लगती है, जिससे आंखे खराब हो जाती हैं ।

मस्तिष्क : अगरबत्ती के धुएं की वजह से दिमाग की कोशिकाएं प्रभावित होती है जिससे सिरदर्द और माइग्रेन जैसी समस्या हो सकती है ।

दिल : स्वस्थ शरीर के लिए दिल का तंदुरुस्त होना भी बहुत जरूरी है| ऐसे में जब रोजाना अगरबत्ती का धुआं सांस के साथ शरीर में जाता है तो इससे दिल की कोशिकाएं सिकुड़ना शुरू हो जाती हैं जिससे हार्ट अटैक होने का खतरा बढ़ जाता है ।

महत्त्वपूर्ण सूचना: यहाँ दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हरसम्भव प्रयास किया गया है। यहाँ उपलब्ध सभी लेख पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए है और इसकी नैतिक जि़म्मेदारी www.newsnavsamvaad.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। आपका चिकित्सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है।