संस्था दिव्योत्थान द्वारा दिव्यांग सायकिल यात्री प्रदीप मिरदवाल का सम्मान कर किया विदा

0
382

देश में दिव्यांगों के प्रति जनजाग्रति के बढ़ावे के लिए इंदौर के एक दिव्यांग युवा ने एक पहल की शुरुआत की .इस पहल के तहत प्रदीप जी  सम्पूर्ण भारतवर्ष में १५००० किमी की यात्रा करेंगे प्रदीप के इस जज्बे के प्रोहत्सान के लिए संस्था दिव्योथान ने उत्साहवर्धन किया और गजानन शनि मंदिर से इस यात्रा का शुआरम्भ  किया . दादू महाराज के सानिध्य में इस यात्रा की शुरुआत श्रीफल और शॉल भेट और सम्मान निधि देकर की .साथ में प्रकृति संरक्षण के सन्देश देने के लिए  संस्था की अध्यक्ष डॉ दीपमाला  गुप्ता सचिव पवन मकवाना एवं नवनीत गुप्ता ने पौधे देकर सम्मानित किया , जिससे वे देश के किसी भी स्थान पर रुके तो वह प्रकृति के प्रति जागरूकता का प्रचार करे .

इन्दौर। देश में दिव्यांगों के प्रति जनजाग्रति को बढ़ाने का उद्देश्य लेकर इन्दौर से 15000 कि.मी. की सायकिल यात्रा पर निकले युवा प्रदीप मिरदवाल को 14 नवंबर की सुबह दिव्यांगों के उत्थान के लिए कार्य करने वाली संस्था दिव्योत्थान के बैनर तले उषा नगर स्थित श्री गजासीन शनिमंदिर आश्रम में श्रीशनि महाराज की पूजा व आशिर्वाद को प्राप्त कर आश्रम के प्रांगण से संत श्रीदादूजी महाराज ने शाल श्रीफल व श्रद्धा निधी भेंटकर यात्रा सफल होने का आशिर्वाद देकर विदा किया। अपने आशिर्वचन में श्रीदादूजी महाराज ने कहा की प्रदीपजी के होंसले को देख दिव्यांगों में एक नई उर्जा का संचार होगा प्रदीपजी के इस जज्बे को नमन शनिदेव से प्रार्थना है कि वे आपकी यात्रा सफल करे।
इस अवसर पर उपस्थित संस्था अध्यक्ष श्रीमती डॅा. दीपमाला गुप्ता ने कहा की प्रदीपजी के कदम से हम सभी दिव्योत्थान संस्था के दिव्यांग भाई-बहनें गौरवांन्वित हैं आप जॅहा भी जाएं वहाॅ अपने दिव्यांग भाईयों के उत्थान के लिए वहाॅ के लोगों को जाग्रत करें।

कार्यक्रम में उपस्थित संस्था के श्रीनवनीत गुप्ता ने बताया की प्रदीपजी का पैर एक रेल दुर्घटना में कट गया था जिसकी वजह से उन्हें जयपुरी पैर लगाना पड़ा आज वे इन्दौर से दिव्यांगों के उत्थान व जनजागरण हेतू संपूर्ण भारत की 15000 किलोमीटर की सायकिल यात्रा पर निकल रहे हैं हम सब उनके इस अभियान का एक छोटा सा हिस्सा बने हैं यह हमारे लिए भी गर्व की बात हैं।
कार्यक्रम में उपस्थित अन्य नागरिकों व संस्था के सदस्यों ने प्रदीपजी का हौंसला अफजाई करते हुए उन्हें आशिर्वाद दिया और मंगलकामनाऐं की इस अवसर पर संस्था सचिव पवनजी मकवाना ने उन्हें औषधी पौधे भेंट किए व प्रदीप मिरदवाल से वचन लिया कि वे जहाॅ भी जाऐगें वहाॅ पौधा रोपण कर अपने जनजाग्रति अभियान की शुरुआत करेगें उन दिव्यांगों को घर से बाहर आकर कुछ करने की प्रेरणा देगें जो घर से बाहर निकलना तो चाहते हैं पर निकल नहीं पाते हैं। इस अवसर पर गिरीश जैन, अलका घुगरे, बलराम तायखेड़कर, लक्ष्मीनारायण कुमावत, किर्ति नारंग, सुभाष मिरचंदानी, सनी जादम आदि शहर के गणमान्य नागरिक व आश्रम के श्रद्धालुजन उपस्थित थे।