FIH हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल :: इंग्लैंड ने भारत को 3-2 से दी शिकस्त

0
122

भुवनेश्वर। पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया को बराबरी पर रोकने के बाद भारत को एफआईएच हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल के पूल-बी मुकाबले में शनिवार को इंग्लैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा।

पहले मैच में जर्मनी से शिकस्त झेलने वाली इंग्लैंड ने भारत को 3-2 से शिकस्त दी। एक समय दो गोल से पिछड़ रही भारतीय टीम ने 2-2 की बराबरी की, लेकिन अन्तिम समय में इंग्लैंड ने निर्णायक गोल दागकर जीत हासिल की। भारत ने पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया को 1-1 की बराबरी पर रोका था।

इंग्लैंड की ओर से 25वें मिनट में डेविड गुडफिल्ड ने और 43वें तथा 57 वें मिनट में सैम वर्ड ने गोल किए। भारत की ओर से पहला गोल आकाशदीप सिंह ने 47वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर किया जबकि दूसरा गोल ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर सिंह ने 50 वें मिनट में मैदानी गोल के रूप में किया।

इससे पहले पूल-बी के ही एक अन्य मुकाकले में मार्टिन हैनर के आखिरी मिनट में किए गए रोमांचक गोल की बदौलत जर्मनी ने विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 2-2 से ड्रॉ पर रोक दिया। टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में इंग्लैंड को 2-0 से पीटने वाली जर्मन टीम ने अपने उसी प्रदर्शन को यहां भी बरकरार रखा। ऑस्ट्रेलिया का टूर्नामेंट में यह दूसरा ड्रॉ है। इससे पहले उसे शुक्रवार को भारत से 1-1 का ड्रॉ खेलना पड़ा था।

विश्व रैंकिंग में पांचवें नंबर की टीम जर्मनी ने दूसरे नंबर की टीम और विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आक्रामक शुरुआत की। जर्मनी ने मैच के सातवें मिनट में ही मार्को मिलत्कौके मैदानी गोल की मदद से 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

पहले क्वार्टर में एक गोल होने के बाद दूसरा क्वार्टर गोलरहित रहा। लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे क्वार्टर में दो गोल ठोककर न सिर्फ बराबरी की बल्कि 2-1 की बढ़त भी ले ली। ऑस्ट्रेलिया के लिए पहला गोल ब्लैक गोवर्स ने 39 वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर जबकि दूसरा गोल आरोन क्ंिलश्मिट ने 49 वें मिनट में किया।

मुकाबले में 1-2 से पिछडऩे के बाद जर्मनी ने मैच समाप्त होने से दो मिनट पहले ही गोल दागकर स्कोर 2-2 से बराबरी पर ला दिया। मार्टिन हैनर ने 58 वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर जर्मनी के लिए बराबरी का गोल दाग दिया और मुकाबला 2-2 से ड्रॉ रहा।