GST : 66 प्रोडक्‍ट्स पर घटे टैक्स रेट

0
79

नई दिल्लीः वस्तु एवं सेवा कर (जी.एस.टी.) परिषद ने विभिन्न वस्तुओं के तय जीएसटी दरों का हो रहे विरोध के मद्देनजर 66 वस्तुओं की दर में कमी कर दी है जिससे अब ये उत्पाद सस्ते हो जाएंगे। वित्त मंत्री अरुण जेतली की अध्यक्षता में आज हुई परिषद की 16वीं बैठक में ये निर्णय लिए गए। पिछली 2 बैठकों में वस्तुओं एवं सेवाओं के लिए जी.एस.टी. दरें तय की गई थी। इसके बाद उद्योग एवं कारोबारी संगठनों ने कुछ वस्तुओं की जी.एस.टी. दर का विरोध करते हुए ज्ञापन सौंपे थे।

बैठक के बाद जेतली ने संवाददाताओं से कहा कि 133 वस्तुओं की जी.एस.टी. दर को लेकर ज्ञापन मिले थे। सेनेटरी नैपकिन पर जी.एस.टी. दर में कोई बदलाव नहीं किया गया है। अब 100 रुपए तक के सिनेमा टिकट पर 18 फीसदी कर लगेगा जबकि पहले सभी सिनेमा टिकट पर 28 फीसदी कर निर्धारित किया गया था। अब 100 रुपए से अधिक के टिकट पर ही 28 फीसदी कर लगेगा। उन्होंने कहा कि इसी तरह से काजू, इंसुलिन और अगरबत्ती पर पहले 12 फीसदी जी.एस.टी. दर तय की गई थी जिसे अब कम कर 5 फीसदी कर दिया गया है।

* कंप्यूटर प्रिंटर, डेंटल वैक्स, स्कूल बैग, प्लास्टिक तारपोलिन, प्लास्टिक बीड्स, कंक्रीट पाइप और ट्रैक्टर के कलपुर्जे की जी.एस.टी. दर को 28 से कम कर 18 प्रतिशत कर दिया
* कॉपियां, बर्तन और डिब्बा बंद फल, सब्जियां, अचार, टॉपिंग्स, इंस्टेंट फूड और सॉस पर जी.एस.टी. को 18 से कम कर 12 प्रतिशत कर दिया
* कलरिंग बुक पर 12 से घटाकर शून्य जी.एस.टी. कर दिया गया

जेतली ने कहा कि अब 75 लाख रुपए तक के कारोबारी, विनिर्माता और रेस्त्रां वाले कंपोजिशन स्कीम का लाभ उठा सकेंगे जबकि पहले यह सीमा 50 लाख रुपए थी। उन्होंने कहा कि जिन वस्तुओं पर जी.एस.टी. दर कम की गई है उससे वे उत्पाद सस्ते हो जाएंगे लेकिन इससे सरकारी राजस्व पर असर पड़ेगा। उन्होंने बताया कि जी.एस.टी. परिषद की अब अगली बैठक 18 जून को दिल्ली में आयोजित की जाएगी जिसमें लॉटरी और ई-वे बिल पर जी.एस.टी. दर को लेकर चर्चा की जाएगी।