IPL 10: दिल्ली डेयरडेविल्स ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए गुजरात लायंस को हराया

0
284

नई दिल्ली। युवा बल्लेबाजों रिषभ पंत (97) और संजू सैमसन (61) विस्फोटक अर्धशतकों से दिल्ली डेयरडेविल्स ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए गुजरात लायंस को यहां फिरोजशाह कोटला मैदान में गुरुवार को सात विकेट से हराकर आईपीएल 10 से बाहर कर दिया और प्लेऑफ में बने रहने की अपनी उम्मीदों को कायम रखा।

दिल्ली के सामने गुजरात का सात विकेट पर 208 रन का मजबूत स्कोर था। लेकिन पंत और सैमसन ने कोटला मैदान में 16 गगनचूंबी छक्कों की ऐसी बरसात की कि गुजरात के लायंस बगले झांकने के लिए मजबूर हो गए। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए मात्र 63 गेंदों में 143 रन की मैच जिताऊ विस्फोटक साझेदारी की। दिल्ली ने 17.3 ओवर में तीन विकेट पर 214 रन बनाकर मैच एकतरफा अंदाज में निपटा दिया और टूर्नामेंट में 10 मैचों में अपनी चौथी जीत हासिल कर ली।

दिल्ली के अब आठ अंक हो गए हैं और प्लेआफ की उसकी उम्मीदें कायम हैं। लेकिन दिल्ली को अभी अपने सभी शेष मैच जीतने होंगे। दूसरी तरफ गुजरात को 11 मैचों में आठवीं हार का सामना करना पड़ा और इसके साथ ही वह प्लेऑफ से बाहर हो गया।

मैन ऑफ द मैच 19 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज पंत ने अपनी सबसे यादगार पारी खेलते हुए मात्र 43 गेंदों में छह चौके और नौ गगनचूंबी छक्के उड़ाते हुए 97 रन ठोक डाले। इस युवा बल्लेबाज का दुर्भाग्य रहा कि वह मात्र तीन रन से अपने शतक से चूक गए। लेकिन उन्होंने अपनी करिश्माई पारी से दिल्ली को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया। पंत तेज गेंदबाज बासिल थम्पी की गेंद पर विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के हाथों लपके गए।

शतक के करीब पहुंचकर आउट होने से पंत बेहद निराश नजर आए और भारी कदमों से पवेलियन की तरफ चल दिए। लेकिन तभी गुजरात के कप्तान सुरेश रैना ने उन्हें रोककर उनके गालों को थपथपाया। मानो वह इस जबरदस्त पारी के लिए उन्हें सराह भी रहे हों और साथ ही शतक चूकने के लिए सात्वंना भी दे रहे हो।

पंत को दूसरे छोर से युवा सैमसन का भी भरपूर साथ मिला। सैमसन ने 31 गेंदों पर 61 रन में सात जबरदस्त छक्के लगाए। इस तरह पंत और सैमसन के बल्लों से कुल 16 छक्के निकले जिन्होंने गुजरात को पूरी तरह ध्वस्त कर डाला।

दिल्ली ने मजबूत लक्ष्य का पीछा करते हुए कप्तान करुण नायर (12) को टीम के 24 के स्कोर पर गंवाया। लेकिन इसके बाद देश के दो युवा प्रतिभाशाली बल्लेबाज मैदान पर इस तरह छा गए कि गुजरात के कप्तान रैना बार बार गेंदबाजी बदलने के बावजूद उनके बढ़ते कदमों को नहीं रोक पाए। पंत ने अपने 50 रन 27 गेंदों में दो चौकों और पांच छक्कों की मदद से और सैमसन ने अपने 50 रन 24 गेंदों में सात छक्कों की मदद से पूरे किए। दोनों ने 63 गेंदों में 143 रन की मैच विजयी अविजित साझेदारी कर डाली।

सैमसन का विकेट 167 और पंत का विकेट 179 के स्कोर पर गिरा। श्रेयस अय्यर ने आठ गेंदों में दो छक्कों की मदद से नाबाद 14 और कोरी एंडरसन ने 12 गेंदों मेें दो छक्कों की मदद से नाबाद 18 रन बनाकर दिल्ली को यादगार जीत दिला दी। एंडरसन ने मैच विजयी छक्का मारा। दिल्ली के बल्लेबाजों ने इस मैच में कुल 20 छक्के ठोके।

पंत और सैसन की मार के आगे गुजरात के सभी गेंदबाज बेबस नजर आए। रैना ने सात गेंदबाजों का इस्तेमाल किया और सातों ही गेंदबाज पिटे। प्रदीप सांगवान ने 43 रन पर एक विकेट, थम्पी ने 40 रन पर एक विकेट और रवींद्र जडेजा ने 28 रन पर एक विकेट लिए।

इससे पहले कप्तान सुरेश रैना (77) और विकेटकीपर दिनेश कार्तिक (65) के तूफानी अर्धशतकों तथा उनके बीच तीसरे विकेट के लिए 133 रन की जबरदस्त साझेदारी के दम पर गुजरात लायंस ने सात विकेट पर 208 रन का मजबूत स्कोर बनाया लेकिन यह जीत के लिए पर्याप्त साबित नहीं हुआ।

फिरोजशाह कोटला मैदान पर इस मुकाबल में रैना ने दो जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए 43 गेंदों पर पांच चौके और चार छक्के जमाकर 77 रन ठोक डाले। विकेटकीपर कार्तिक ने भी अपने कप्तान के साथ तगड़े हाथ दिखाते हुए 34 गेंदों पर 65 रन में पांच चौके और पांच छक्के लगाए। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 12 ओवर में 133 रन की शानदार साझेदारी की।

दाएं हाथ के बल्लेबाज रैना को दूसरे ओवर और सातवें ओवर में जीवनदान मिले। पहली बार आई कैगिसो रबादा की गेंद पर श्रेयस अय्यर ने रैना का कैच छोड़ा उस समय रैना का स्कोर दो रन और टीम का स्कोर 12 रन था। रैना का दूसरी बार कैच मोहम्मद शमी की गेंद पर छूटा और इस बार मार्लाेन सैमुअल्स ने कैच टपकाया। उस समय रैना का स्कोर 40 रन और गुतरात का स्कोर 59 रन था।

गुजरात के कप्तान ने इस जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए टीम को दूसरे ओवर में दो विकेट पर 10 रन की नाजूक स्थिति से उबार दिया। ड्वेन स्मिथ नौ रन बनाकर दूसरे ओवर की पहली गेंद पर आउट हुए जबकि ब्रैंडन मैकुलम (1) अगली गेंद पर अपने लापरवाही के कारण शाहबाज नदीम के सीधे थ्रो पर रन आउट हो गए। लेकिन इसके बाद रैना और कार्तिक ने अपने गगनचूंबी छक्कों से कोटला में मौजूद लगभग 30 हजार दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया।

रैना ने अपने 50 रन 32 गेंदों में चार चौकों और दो छक्कों की मदद से पूरे किए। कार्तिक के 50 रन 28 गेंदों में तीन चौकों और चार छक्कों की मदद से बने।

गुजरात का छह ओवर के पावरप्ले में 58 रन जोड़े जबकि उसके 100 रन 10.2 ओवर में पूरे हुए। पारी के 10 ओवर तक गुजरात का स्कोर 93 रन तक पहुंच चुका था। रैना ने मोहम्मद शमी पर एक छक्का और मोर्लाेन सैमुअल्स पर दो छक्के जड़े। कार्तिक ने लेग स्पिनर अमित मिश्रा पर एक छक्का, नदीम पर दो छक्के, कोरी एंडरसन पर एक छक्का और मोहम्मद शमी पर एक छक्का मारा।

रैना आतिशी पारी खेलने के बाद उसी अंदाज में रन आउट हुए जिस अंदाज में मैकुलम हुए। रबादा ने रैना को रन आउट किया। रैना के रन आउट होन के अगले ही ओवर में कार्तिक ने कमिंस की गेंद पर कोरी एंडरसन को कैच थमा दिया। एंडरसन ने हवा में कैच लिया।

आरोन फिंच ने 19 गेंदों में चार चौकों की मदद से 27 रन और रवींद्र जडेजा ने सात गेंदों में दो छक्कों के सहारे नाबाद 18 रन बनाकर गुजरात को 208 तक पहुंचा दिया। जडेजा ने एंडरसन की पारी के आखिरी दो गेंदों पर छक्के मारे। गुजरात ने अंतिम 10 ओवर में 115 रन बटोरे।

दिल्ली की तरफ से रबादा ने 28 रन पर दो विकेट, कमिंस ने 30 रन पर दो विकेट और एंडरसन ने 36 रन पर एक विकेट लिया। नदीम ने दो ओवर में 28 रन, मिश्रा ने दो ओवर में 23 रन, सैमुअल्स ने दो ओवर में 22 रन और शमी ने तीन ओवर में 40 रन लुटाए।