मुख्य सडक़े हो गई गड्डों में तब्दील, मरीज व गर्भवती महिलाएं हो रही मौत का शिकार

0
143

शिवसेना ने जनसुनवाई में ज्ञापन देकर की मार्ग के दुरूस्तिकरण की मांग
देवास। जिले की सडक़ों की दुर्दशा के दुरूस्तिकरण की मांग को लेकर शिवसेना संगठन ने जिला महासचिव सुनील वर्मा एवं जिला महामंत्री मुकेश व्यास के नेतृत्व में मंगलवार को जनसुनवाई में ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया कि देवास जिले में स्थित डबलचौकी से लेकर चापड़ा तक एवं चापड़ा से लेकर हाटपीपल्या तक का मार्ग हजारों गड्डों में तब्दील हो गया है। पता ही नही चलता है कि सडक़ में गड्डे है या गड्डे में सडक़। इस समस्या को लेकर शिवसेना ने पूर्व मे भी स्थानीय प्रशासन एवं पीडब्ल्यूडी विभाग, सडक़ ठेकेदार को अवगत कराया था, लेकिन किसी के भी द्वारा इस ओर ध्यान नही दिया गया। जिस कारण इन मार्गों पर आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है। कई लोग हादसों में मौत का शिकार हो रहे है। मार्ग को तय करने में जहां 15 से 20 मिनिट लगते है वही सडक़ की दुर्दशा के कारण 1 घंटे से ज्यादा समय में सफर तय होता है। इन मार्गों से प्रतिदिन हजारों की संख्या में वाहन निकलते है। वाहनों की संख्या में बढ़ोतरी के कारण मार्ग की हालत बद से बदतर हो गई है। मार्गों से निकलने वाली एम्बूलेंस जो मरीजों को लेकर अस्पतालों तक जाती है मार्ग की हालत खराब होने के कारण मरीज रास्ते में ही दम तोड़ देते है। खासकर गर्भवती महिलाओं को ज्यादा तकलीफ का सामना करना पड़ता है। श्री वर्मा ने जनसुनवाई में पीडब्ल्यूडी के नवनियुक्त अधिकारी श्री गुप्ता से इस बारे में चर्चा की तो श्री गुप्ता का कहना था कि मार्गों के निर्माण का काम चल रहा है, शिवसेना ने श्री गुप्ता को बताया कि मार्गों की दशा देखकर लगता नही कि मार्गों का निर्माण हुआ है। इन मार्गों पर कोई मजदूर व रोड़ बनाने की मशीन कार्य नही करती दिख रही थी। पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा मार्गों पर सिर्फ चूरी डाली जाती है, जिस कारण वाहन आए दिन फिसलते रहते है। शिवसेना ने मांग की है जल्द से जल्द इन मार्गों को दुरूस्त किया जाए एवं लापरवाह अधिकारीयों द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की जाँच कर सख्त कार्यवाही की जाए। ऐसा नही होने पर शिवसेना जल्द ही उग्र आंदोलन करेगी। उक्त जानकारी युवा सेना जिला महासचिव विजय जायसवाल ने दी।