MP :: मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की मदद से खरीदे गये ऑटो रिक्शा ने किया सपना साकार

0
779

इंदौर, 17 फरवरी 2018

युवाओं को अपनी रूचि के अनुरूप व्यवसाय करने व जिंदगी की गाड़ी को आगे बढ़ाने में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना वरदान बन रही है। इंदौर के राजेन्द्र नगर निवासी राहुल हटकर के भी लिये मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना सपनों को पूरा करने और अपनी रूचि के अनुरूप व्यवसाय करने में मददगार बनी है। राहुल के पिता पेशे से ड्राइवर हैं। ऐसे में राहुल ने भी इसी पेशे में भविष्य ढूंढना प्रारंभ किया। पैसे के अभाव में राहुल इस सपने को पूरा नहीं कर पा रहा था। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ने राहुल के सपने को पूरा किया।

ड्रायवरी का अनुभव होने से राहुल की ऑटो रिक्शा खरीदने की बड़ी तमन्ना थी। उसे एक दिन मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के बारे में पता चला। इस योजना के लिये उसने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर पिछड़ा वर्ग व अल्प संख्यक कल्याण विभाग के सहायक संचालक से संपर्क किया। सहायक संचालक ने राहुल को योजना के संबंध में विस्तार से बताया। राहुल ने ऑटो रिक्शा खरीदने की इच्छा व्यक्त की। राहुल को योजना का आवेदन पत्र दिया गया। आवेदन पत्र भरकर उसने सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ जमा किया। यह आवेदन पत्र ऋण स्वीकृति के लिये स्टेट बैंक ऑफ इंदौर की नेमी नगर शाखा में आ गया। राहुल ने बैंक में सम्पर्क किया। बैंक में अधिकारियों द्वारा बताया गया कि उसके लिये सीएनजी ऑटो रिक्शा हेतु दो लाख रूपये का ऋण स्वीकृत किया गया है। पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग द्वारा 60 हजार रूपये की अनुदान राशि भी स्वीकृत की गई है। ऋण स्वीकृति की जानकारी मिलते ही राहुल की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। आज उसे अपने सपने साकार होने की बेहद खुशी थी। इस ऋण स्वीकृति के साथ ही उसके सपने साकार हो गये।

राहुल ने बताया कि पिताजी ड्रायवरी करते हैं। हम चार भाई हैं। इनके पालन-पोषण की जिम्मेदारी भी मेरे पिताजी के ऊपर थी। मैं अब पिताजी के साथ परिवार के पालन-पोषण में भी सहयोग दे पाऊंगा। मैंने स्वीकृत ऋण राशि से ऑटो रिक्शा खरीदा। ऑटो रिक्शा संचालन से मुझे प्रतिमाह छ: हजार रूपये की आय हो जाती है। ऑटो रिक्शा की नियमित किश्त भी चुका रहा हूं। परिवार को चलाने में पिताजी की मदद भी कर रहा हूं। मेरे पिताजी और परिवारजन बेहद खुश है कि मैं मेहनत कर अपने व्यवसाय को आगे बढ़ा रहा हूं। उसने बताया कि आगे मेरी योजना है कि लोन पूरा होने पर जल्द ही एक और वाहन खरीदूं। मैं स्कूल बस भी खरीदना चाहता हूं। यदि सब कुछ अच्छा रहा तो मैं इस सपने को भी हकीकत में अवश्य बदलूंगा। राहुल ने मुख्यमंत्रीजी की स्वरोजगार योजना के लिये उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त की है और कहा है कि यह योजना मेरे और मेरे जैसे अन्य बेरोजगारों को रोजगार स्थापित करने में बेहद मददगार साबित होगी। मेरे लिये तो यह योजना वरदान बनी है। उम्मीद करता हूं कि अन्य बेरोजगारों के लिये भी यह योजना वरदान साबित हो।